ब्रेकिंग समाचार – टाईगर रिजर्व क्षेत्र में बाघ के हमलें से हाथी की मौत, वन विभाग में मचा कोहराम…

0

प्रधान मुख्य वन संरक्षक और वन अफसरों के अमला पहुचा मौके पर पोस्टमार्डम कर हाथी के शावक का किया गया अंतिम संस्कार

मैनपुर

शेख हसन खान

उदंती सीतानदी टाईगर रिजर्व के बफर जोन एरिया वन परिक्षेत्र कुल्हाडीघाट के ओंढ आमामोरा पहाडी में आज शनिवार को एक हाथी के शावक पर बाघ ने हमला कर उसे मौत के घाट उतार दिया, हाथी के शावक की मौत की खबर लगते ही वन प्रशासन में हडकम्प मच गया मामले की जानकारी लगते ही प्रधान मुख्य वन संरक्षक पी.वी. नरसिंह राव, सी.सी. एफ अनुराग श्रीवास्तव, उदंती सीतानदी टाईगर रिजर्व के उपनिदेशक आयुष जैन , एसडीओ पी.आर. ध्रुव, वन परिक्षेत्र अधिकारी सुदर्शन नेताम व वन विभाग के अमला तत्काल मौके पर पहुचकर पंचनामा कर तीन डाॅक्टरों की टीम डाॅ राकेश वर्मा, डाॅ सोमेश जोशी के उपस्थिति में हाथी के शावक का पोस्टमार्डम कर अंतिम संस्कार किया गया।

हाथी के शावक के पोस्टमार्डम करने वाले डाॅक्टरों से मिली जानकारी के अनुसार बाघ ने हमला कर हाथी के शावक को पुरी तरह जख्मी कर दिया जिससे उसकी मौत हो गई।

शेर के पंजो का निशान

क्या कहते है वन अफसर

वन विभाग के एसडीओ पी.आर ध्रुव ने चर्चा में बताया कि उदंती सीतानदी टाईगर रिजर्व के बफर जोन ऐरिया ओंढ आमामोरा पहाडी के कुकराल में आज बाघ के द्वारा हमला किए जाने से एक हाथी के शावक की मौत हो गई है, वन विभाग प्रधान मुख्य वन्य प्राणी वन सरंक्षक पी.वी. नरसिंह राव एंव वन अफसरों तथा डाॅक्टरो की उपस्थिति में पोस्ट मार्डम कर अंतिम संस्कार किया गया है ।

वही दूसरी ओर कटघोरा वनमंडल के अंतर्गत लमना गांव के करीब तालाब में डूबने से हाथी के शावक की मौत हो गई है.वन विभाग को लमना गांव के करीब 46 हाथियों के एक दल के पहुंचने की सूचना मिली थी. सूचना के बाद वन विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को दल की निगरानी करने के लिए भेजा गया था. हाथियों के दल के साथ पिछले माह जन्मा एक शावक भी था.

उन्होंने बताया कि कर्मचारी रात तीन बजे तक दल की निगरानी करते रहे. जब हाथियों का दल आगे बढ़ने लगा तब वन विभाग के कर्मचारी वहां से चले गए. इसके बाद हाथियों का दल वापस लौट आया और पानी पीने के लिए जंगल के समीप खेत के किनारे बने तालाब में उतर गया. इस दौरान शावक की डूबने से मौत हो गई.तड़के जब वन विभाग के कर्मचारी वहां पहुंचे तब उन्होंने शावक के शव को तालाब में देखा. वहीं तालाब के करीब ही हाथियों का झुंड विचरण कर रहा था. अधिकारियों ने बताया कि शावक के शव का पोस्टमार्टम करने बाद अंतिम संस्कार कर दिया गया है.