कोरोना वेक्सीन – 8955 लोगो ने पहला डोज नहीं लगवाया

0

रायपुर

राजधानी मेंन कोरोना वैक्सी का पहला टीका लगवाने में डाक्टरों-हेल्थ वर्कर्स ने जो उत्साह दिखाया, दूसरे डोज के लिए वह फीका पड़ गया है। टीके का दूसरा डोज लगने का सिलसिला 16 जनवरी से शुरु हुआ है। इस दौरान में इसी श्रेनी के 35,527 लोगो को दूसरा डोज लगना था।

लगभग 25 दिन बीत गए हैं, लेकिन 22 फरवरी तक रायपुर में केवल 1994 लोगों ने ही वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाया है, यानी केवल 5 प्रतिशत। यही वजह है कि हेल्थ विभाग ने इस श्रेणी के लोगों को दूसरा डोज लगाने के लिए सेंटर का बंधन तक खत्म कर दिया है, यानी वे किसी भी सेंटर में जाकर दूसरा डोज लगवा सकते हैं।

दूसरे डोज के मामले में प्रदेश का भी यही हाल है। अब तक केवल 10 प्रतिशत लोगों ने ही टीके की दूसरी खुराक ली है। प्रदेश में 2.76 लाख लोगों को टीके की दूसरी खुराक लगाई जानी है, जबकि अब तक 27937 ही लोगों ने दूसरा डोजलगवाया है। हालात ये हैं कि रायपुर कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन ने एक अपील जारी कर रहा है कि कोई भी व्यक्ति पहली खुराक के 28 दिन पूरे होने के बाद किसी भी सेंटर में जाकर दूसरा डोज लगवा सकता है।

फोन करके अनुरोध भी : केवल दूसरे डोज के लिए ही नहीं डॉक्टर और हेल्थ वर्करों की पहली खुराक लगवाने में अब तक पंजीकृत 35527 में से केवल 26752 लोग ही पहुंच पाए हैं।

यानी अब भी इस श्रेणी में 8955 लोगो ने पहला डोज नहीं लगवाया है। डॉक्टर और हेल्थ स्टॉफ के ये लोग टीकाकरण केंद्र पहुंचकर पहली खुराक लें, इसके लिए लगातार फोन भी किए जा रहे हैं। एक दिन में कई एक-एक व्यक्ति को दस-दस काॅल हुए हैं और अनुरोध किया जा रहा है।