हम मात्र पांच साल के लिए नही बल्कि आगामी 15-20 साल तक छत्तीसगढ में कांग्रेस की सरकार रहेगी – मोहन मरकाम

0

हीरा खदान का मामला न्यायालय के अधीन है, हीरा खदान के उत्खन्न से प्रदेश को होगा लाभ,कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने शेख हसन खान से किया खास चर्चा

शेख हसन खान मैनपुर

हीरा खदान का मामला न्यायालय के अधीन है, हीरा खदान को लेकर छत्तीसगढ के कांग्रेस सरकार काफी संवेदनशील है, मैनपुर देवभोग क्षेत्र के इन हीरा खदानों के उत्खनन से पुरे छत्तीसगढ प्रदेश को तो लाभ होगा ही इस क्षेत्र में भी इससे काफी विकास की संभावना है, उक्त बाते छत्तीसगढ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने चर्चा में कही। पूर्व प्रधानमंत्री स्वः राजीव गांधी के गोद ग्राम कुल्हाडीघाट के दौरे के बाद वापस मैनपुर लौटते समय हमारें मैनपुर संवाददाता शेख हसन खान से चर्चा करते हुए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा बिन्द्रानवागढ विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस की जीत हमारा लक्ष्य है, कोई नेता देवभोग जाने के लिए तैयार नही होते लेकिन मै स्वंय देवभोग और मैनपुर क्षेत्र के दर्जनो ग्रामो का पिछले दो दिनो से लगातार दौरा कर रहा हू पदयात्रा में शामिल हो रहा हॅू, लोगो से मिल रहा हुॅ साथ ही कांग्रेस कार्यकर्ताआें से चर्चा हो रही है, क्षेत्र में कांग्रेस कार्यकर्ताआें में भारी उत्साह देखने को मिल रहा है, बिन्द्रानवागढ विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के कार्यकर्ता पुरी मजबूती के साथ छत्तीसगढ कांग्रेस सरकार भूपेश बघेल सरकार की योजनाआें को आम जनता तक पहुचाने के लिए और समाज के अंतिम पंक्ती में बैठै लोगो तक ज्यादा से ज्यादा योजनाआें का लाभ पहुचाने कार्य कर रहे है, आगामी 2023 में बिन्द्रानवागढ विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस की जीत सुनिश्चिित है, उन्होने आगे कहा कि हमारें कार्यकर्ताआें के बल पर और राज्य सरकार के जनता के हित में किये जा रहे विकास कार्यो के चलते आने वाले 2023 और 2024 लक्ष्य लेकर चल रहे है, हम मात्र पांच साल के लिए सरकार में नही आए बल्कि अगामी 15-20 साल छत्तीसगढ में कांग्रेस की सरकार रहे हम यह लक्ष्य लेकर चल रहे है, बिन्द्रानवागढ विधानसभा क्षेत्र के किडनी प्रभावित ग्राम सुपेबेडा का मै स्वंय निरीक्षण करने गया था, वंहा करोडों की लागत से शुध्द पेयजल उपलब्ध कराने के लिए सरकार द्वारा कार्य किया जा रहा है, इस क्षेत्र के बहुत पुरानी मांग 132 केव्ही बिजली का कार्य इदागांव में चल रहा है।

एक सवाल के जवाब में उन्होने कहा कि संगठन चुनाव के बाद आपसी मतभेद को खत्म कर हमारे कांग्रेस के कार्यकर्ता पुरे जोश खरोस के साथ पार्टी के हित के लिए कार्य करने जुट गये है, क्षेत्र में कही गुटबाजी नही है, उन्होने आगे कहा दो वर्षो में हमारी सरकार 36 वायदो में 24 वायदे पुरे कर चुकी है और जो बचे हुए वायदे है उसे आगामी तीन वर्षो में प्राथमिकता के साथ पुरा करेंगी, आज माननीय भूपेश बघेल जी की सरकार दो वर्षो में छत्तीसगढ की दो करोड 80 लाख जनता की अपेक्षाओं पर खरा उतरने का प्रयास किया है, जब 17 दिसम्बर को हमारी सरकार ने शपथ ग्रहण किया शपथ ग्रहण करने के बाद अपना सबसे बडा वायदा 13 लाख किसानों का 11 हजार करोंड कर्ज माफ करने वाली यह पहली कांग्रेस की सरकार है, समर्थन मूल्य के अतिरिक्त राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत पांच हजार 700 करोंड रूपये अतिरिक्त किसानों की आमदनी देने की काम हमारी सरकार ने किया है, पहले सात प्रकार के वनोपज का समर्थन मूल्य पर खरीदी होता था हमारी सरकार ने 52 प्रकार के वनोपज की खरीदी हमारी सरकार कर रही है, कोरोना काल में सात लाख मजदूर बाहर थे उनकों लाकर तीन महिने के राशन से लेकर उनकों हर तरह के सुविधा देने का कार्य हमारी सरकार ने किया है ।

श्री मरकाम ने आगे कहा भाजपा ने 2003 में ही घोषणा पत्र में किसानों का कर्जमाफ करने की बात कही थी लेकिन 15 वर्षो सरकार में रहने के बाद कर्ज माफ नही किया, कार्यकर्ताआें की बदौलत हम 15 साल की डाॅ रमन सिंह की निक्कमी सरकार को हटाकर सत्ता में आने सफल हुए है, आज लगातार कांग्रेस में सत्ता और संगठन एक तालमेल के साथ हम काम कर रहे है। श्री मरकाम ने कहा मिडिया के साथियों के लिए भी हमारी सरकार ने लगातार एक नितिया बनाई है, आने वाले समय में हर जिलो में पत्रकार साथियोें के लिए भवन निर्माण करवाई जायेगी पत्रकार सुरक्षा कानून को लेकर भी सरकार विशेष ध्यान दे रही है । आज भूपेश बघेल की सरकार नरवा, गरवा, घुरूवा और बाडी योजना के तहत गांव में रोजगार उपलब्ध करा रही है, पुरे विश्व में गोबर खरीदने का कार्य हमारी सरकार कर रही है, कोरोना काल जैसे संकट में भी हमारी सरकार ने लोगाें को हर तरह से रोजगार व सुविधा मुहैया कराई है।

श्री मरकाम ने कहा केन्द्र के मोदी सरकार द्वारा लाए गये तीन कृषि काले कानून से किसानों को बर्बाद करने की नितिया बनाई है, आज अपने जायज मांगो को लेकर दिल्ली के सीमाओं पर आंदोलन कर रहे किसानों को मोदी सरकार देशद्रोह आंदोलन जीवी और परजीवी जैसे शब्दों का उपयेाग कर रहा है, आज यही किसान अपने बेटों को देश की सीमा पर रक्षा के लिए भेजा है और मोदी सरकार किसानों को प्रताडित परेशान कर रहा है, आज कांग्रेस पार्टी देश के 65 करोड अन्नदाताओं की लडाई लड रही है मोदी सरकार सिर्फ किसान हितैषी होने का ढोंग करती है, उन्होने कहा देश में गैस, बिजली और पेट्रोल डीजल के दाम लगातार बढते जा रहे है वही दिल्ली में महिनों से किसानों का आंदोलन चल रहा है लेकिन केन्द्र सरकार किसानों की समस्याओं का समाधान नही कर रही है ।